SHARE  

 
jquery lightbox div contentby VisualLightBox.com v6.1
 
     
             
   

 

 

 

81. श्री गुरू नानक देव जी की चौथी उदासी कौन-सी थी ?

  • इस्लामी धार्मिक केन्द्रों की ओर

82. श्री गुरू ग्रन्थ साहिब जी की बाणी का बीज किसने बोया ?

  • श्री गुरू नानक देव जी ने

83. श्री गुरू नानक देव जी ने भाई लहणा जी को क्या नाम दिया ?

  • अंगद देव जी

84. श्री गुरू नानक देव जी ने दूसरा गुरू किसे बनाया ?

  • अंगद देव जी को

85. श्री गुरू नानक देव जी ने सभी अक्षरों के लिए क्या लिखा ?

  • पटटी लिखी "ससै सोइ स्रिसटि जिनि साजी सभना साहिबु एकु भइआ" (अंग 432)

86. श्री गुरू नानक देव जी कबीर जी से कब मिले ?

  • सन् 1506 में। दोनों 7 दिन तक साथ रहे।

87. श्री गुरू नानक देव जी की बाणी में कितने राग हैं ?

  • 19 राग

88. श्री गुरू नानक देव जी बाणी में कितने शब्द हैं ?

  • 974 शब्द

89. श्री गुरू नानक देव जी ने ईश्वर को कैसे ब्यान किया है ?

  • अजूनी सैभं

90. अजूनी का क्या अर्थ है ?

  • अजूनी यानि जन्म रहित

91. सैभं का क्या अर्थ है ?

  • जिसका प्रकाश अपने आप से हुआ हो

92. श्री गुरू नानक देव जी के मुख्य कार्य कौन-कौन से थे ?

  • 1. एक ओंअकार की स्तुति

  • 2. गुरूबाणी का बीज बोया

  • 3. संगत-पंगत की स्थापना

  • 4. गुरू परम्परा की शुरूआत

93. "खरा सौदा" या "सच्चा सौदा" क्या है ?

  • पिता जी द्वारा व्यापार कि लिये दिये गये 20 रू. से भुखे साधूओं को खाना खिलाना।

94. श्री गुरू नानक देव जी ने झुठ बोलने को बाणी में कैसे लिखा है ?

  • "कुड़ बोल मुरदार खाइ" (कुड़ यानि झुठ, मुरदार यानि पराया हक) (अंग 139)

95. श्री गुरू नानक देव जी के अनुसार सच्ची आरती कौनसी है ?

  • गगन मै थाल रवि चंद दीपक बने (अंग 13, 663) अर्थात् परमात्मा की आरती के लिए आकाश को थाली बनाओ, उसमें सूरज और चन्द्रमाँ को दीपक बनाओ। तात्पर्य यह है कि परमात्मा इतना बड़ा है कि उसकी छोटी सी थाली में दीपक रखकर पूजा नहीं की जा सकती। इसलिए आम आदमी केवल परमात्मा का नाम जपे यही परमात्मा की पूजा है और यही परमात्मा की आरती है।

96. श्री गुरू नानक देव जी की सबसे मुख्य बाणी कौन सी है ?

  • श्री जपुजी साहिब जी (पाँच बाणी के पाठ में शामिल है)

97. श्री गुरू नानक देव जी दुनिया में शरीर रूप में कितने समय रहे ?

  • 69 साल, 10 महीने, 10 दिन

98. श्री गुरू नानक देव जी जोती-जोत कब समाये ?

  • सन् 1539 में

99. श्री गुरू नानक देव जी जोती-जोत किस स्थान पर समाये ?

  • श्री करतारपुर साहिब जी

100. बेबे नानकी और भाई जैराम कौन थे ?

  • बेबे नानकी गुरू नानक देव जी की बड़ी बहिन थी, जबकि जैराम बेबे नानकी जी के पति और नानक जी के जीजा जी थे।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 
     
     
            SHARE  
          
 
     
 

 

     

 

This Web Site Material Use Only Gurbaani Parchaar & Parsaar & This Web Site is Advertistment Free Web Site, So Please Don,t Contact me For Add.