SHARE  

 
jquery lightbox div contentby VisualLightBox.com v6.1
 
     
             
   

 

 

 

641. जक्रिया खान ने सिक्खों को संधि का जो विशेष मसौदा भेजा था, उसके अर्न्तगत सिक्खों से क्या माँग की गई ?

  • बदले में सिक्ख लोग प्रदेश में शान्ति बनाये रखेंगे और किसी प्रकार का उत्पात नहीं करेंगे।

642. सिक्ख सरदारों ने नवाबी का पटटा स्वयँ ना लेकर किसे दिया ?

  • सरदार कपूर सिंह

643. शहीद भाई मनी सिंघ जी का जन्म कब हुआ था ?

  • सन 1644

644. शहीद भाई मनी सिंघ जी का जन्म कहाँ पर हुआ था ?

  • ग्राम अलीपुर, जिला मुजफरगढ़ (पश्चिमी पाकिस्तान)

645. शहीद भाई मनी सिंघ जी की माता जी का क्या नाम था ?

  • मघरी बाई

646. शहीद भाई मनी सिंघ जी के पिता जी का क्या नाम था ?

  • माई दास

647. शहीद भाई मनी सिंघ जी के दादा जी कौन थे, जो छठे गुरू, श्री गुरू हरगोबिन्द साहिब जी के समय पर तुर्कों से युद्ध करते हुए 1634 को श्री अमृतसर साहिब जी में शहीद हुये थे ?

  • भाई बल्लू जी

648. शहीद भाई मनी सिंघ जी के पिता भाई माई दास जी के कितने बेटे थे ?

  • 12 बेटे थे, इनमें से केवल एक को छोड़कर बाकी, 11 ने शहीदी प्राप्त की।

649. शहीद भाई मनी सिंघ जी का विवाह कितनी आयु में और किसके साथ हुआ था ?

  • 15 वर्ष की आयु में मनी सिंघ का विवाह भाई लखी राय की सुपुत्री बीबी सीतो जी से हुआ। ये भाई लखी राय जी वही थे, जिन्होंने श्री गुरू तेग बहादर साहिब जी के पवित्र धड़ का सँस्कार अपने घर को जलाकर किया था।

650. श्री अंनदपुर साहिब के पहले युद्ध में, जिसमें पहाड़ी राजाओं ने हाथी को शराब पिलाकर किले का दरवाजा तोड़ने के लिए भेजा था, उसका मुकाबला भाई मनी सिंह के सुपुत्रों ने किया था, उनका नाम क्या है ?

  • भाई बचित्र सिंघ जी और भाई उदै सिंघ जी

651. जब श्री गुरू गोबिन्द सिंह जी ने श्री आनंदपुर साहिब जी का किला छोड़ा तो कौन गुरू जी की पत्नियों, माता सुन्दर कौर जी तथा माता साहिब कौर जी को दिल्ली पहुँचाने में सफल हुए ?

  • शहीद भाई मनी सिंघ जी

652. श्री गुरू गोबिन्द सिंघ जी ने दमदमी बीड़ साहिब किस से लिखवाई ?

  • शहीद भाई मनी सिंघ जी

653. बँदेई खालसा और तत खालसा के बीच मतभेद को किसने समाप्त किया ?

  • शहीद भाई मनी सिंघ जी

654. किस दीवाली को भाई मनी सिंह जी ने सारे पँथ को एकत्रित करने की सोची ?

  • 1738 की दीवाली

655. मुगल हुकुमत के जकरिया खान ने भाई मनी सिंघ जी को सारे पँथ को एकत्रित करने की बात कितने रूपये कर के रूप में देने पर स्वीकृत की ?

  • 5000

656. स्वीकृति देने के पिछे जकरिया खान की क्या योजना थी ?

  • जकरिया खान की योजना थी कि एकत्रित सम्पूर्ण खालसा को दीवाली वाली रात में घेरकर तोपों से उड़ा दिया जाये।

657. जकरिया खान की योजना का पता लगने पर भाई मनी सिंघ जी ने क्या कदम उठाया ?

  • भाई मनी सिंह जी ने अपने सिक्खों को दौड़ाया और बाहर से आने वाले सिंघों को रास्तें में ही रोक देने का यत्न किया। परन्तु फिर भी सारे सिंघ रोके नहीं जा सके और बहुत सँख्या में एकत्रित हो गये। चाल के अनुसार लखपत राय ने हमला कर दिया। दीवान लग न सका। कई सिंघ शहीद हो गये। भाई मनी सिंह जी ने इस घटना का बड़ा रोश मनाया और हुकुमत के पास साजिश का विरोध भेजा। परन्तु जकरिया खान ने उल्टे 5,000 रूपये की माँग की। भाई मनी सिंह जी ने कहा की लोग एकत्रित तो हुए नहीं, पैसे किस बात के। भाई मनी सिंह जी हुकुमत की चाल में फँस चुके थे। उन्हें बंदी बनाकर लाहौर दरबार में पेश किया गया।

658. भाई मनी सिंघ जी को किस प्रकार शहीद किया गया ?

  • उनका अंगअंग जुदा करके यानि बोटीबोटी काटकर।

659. भाई मनी सिंघ जी को जब शहीद करने के लिए ले जाया गया, तो बोटी काटने वाला, भाई मनी सिंघ जी का हाथ काटने लगा तो, भाई मनी सिंह जी क्या बोले ?

  • अँगुली से काटना चालु कर, क्योंकि तुम्हारे आकाओं ने बोटीबोटी काटने का आदेश दिया है।

660. अगस्त, 1740 ईस्वी में श्री दरबार साहिब, अमृतसर जी की पवित्रता भँग करने वाले चण्डाल मीर मुगल उलद्दीन उर्फ मस्सा रँघड़ का सिर कलम करके लाने वाले योद्धा, कौन थे ?

  • भाई महताब सिंह "मीरां कोटिया" तथा भाई सुक्खा सिंह "माड़ी कम्बो"

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 
     
     
            SHARE  
          
 
     
 

 

     

 

This Web Site Material Use Only Gurbaani Parchaar & Parsaar & This Web Site is Advertistment Free Web Site, So Please Don,t Contact me For Add.